Sunday, March 12, 2017

“HAPPY HOLI” - A Poem by Sgt Parveen Tuteja , Air Veteran

आज ना रोकना मुझको,  तेरे रंगो में,  मुझे रंग जाने दे ।
मेरे रंगो में रंग जाय़े जो तूं,  तेरे रंगो में मुझ रंग जाने दे ।
लगा कर रंग होली के, दिल की उमगों को  आज रंग जानें दे ।
आज ना रोकना मुझको, तेरे रंगो में  मुझे रंग जाने दे ।

रंग होली के,  तेरी खुशबू में,   घुल जाने दे ।
घुल कर इऩ रंगो को,  दिलो को रंग जाने दे ।
आज ना रोकना मुझको, तेरे रंगो में,  मुझे रंग जाने दे ।

बेरंगी ख्वाबो को लेकर, आऐ तेरे शहर में हम ,
इऩ ख्वाबो को, तेरे शहर के रंगो मेंरंग जाने दे ।
आज ना रोकना मुझको, तेरे रंगो में,  मुझे रंग जाने दे ।

छू कर तेरे बदन को,  रंगो को दिल में तेरे रंग जाने दे ।
तूं भी झुम मस्ती में,  रंगो को भी मस्ती में,  रंग जाने दे ।
आज ना रोकना मुझको,   तेरे रंगो में,  मुझे रंग जाने दे ।

(Source : Via e-mail)






1 comment:

  1. KEEP IT UP.WHAT A WRITING,I MEAN POEM!

    ReplyDelete